Saturday, August 13, 2016

ब्वॉयज का नया ट्रेंड ...

आज के युवा खुद को किसी फिल्म स्टार से कम नहीं समझते हैं। यही कारण वे आज कपड़ों के साथ-साथ हेयर स्टाइल और लुक्स पर काफी ध्यान देने लगे हैं। यंगस्टर्स कपड़ों तक ही सीमित नहीं, बल्कि आज वे हेयर और बियर्ड (दाढ़ी) को एक नया और डिफ्रेंट लुक दे रहे है। आजकल लड़कों के बीच हल्की-हल्की दाढ़ी रखने का क्रेज बढ़ा है। युवाओं के लिए अपना लुक चेंज करने का सबसे आसान तरीका हेयर स्टाइल और बियर्ड (दाढ़ी) चेंज करना है। बदली हुई हेयर स्टाइल आपके लुक में बदलाव लाने के साथ ही आपके व्यक्तित्व को भी आकर्षक बनाती है। क्लीन शेव वाले बॉयज़ की तुलना में आज कल दाढ़ी वाले बॉयज़ की डिमांड बढ़ गई है। लड़कियां उन लड़कों को रफ एंड टफ मानती हैं। बड़ी दाढ़ी रखने का फैशन ट्रेंड में है। हीरो भी रफ-टफ लुक में ही दिखाई देते हैं। लड़कियों को लगता है कि क्लीन शेव रहना अब आउट ऑफ फैशन हो गया है। जिनके चेहरे पर दाढ़ी-मूंछ रहती हैं वे काफी मजबूत व्यक्तित्व के दिखते हैं। लड़कियों को मैच्योर दिखने वाले  लड़के पसंद आते हैं। क्लीन शेव लड़कों के चेहरे पर परिपक्वता इस हद तक नहीं झलकती, जितनी दाढ़ी की वजह से झलकती है।


लड़कियों को क्यों पसंद है दाढ़ी वाले लड़के

*. लड़कियों को दाढ़ी रखने वाले लड़के आकर्षक लगते हैं और वे स्मार्ट, सेक्सी और हैंडसम होते हैं।
*. दाढ़ी रखने वाले लड़के क्रिएटिव होते है।
*. लड़कियों को मैच्योर लड़के पसंद होते हैं। दाढ़ी और मुछ रखने से मैच्योरेंस झलकती है।
*. दाढ़ी रखने वाले लड़के समझदार लगते हैं और अलग-अलग स्टाइल लड़कियों को पसंद आती है।
*. क्लीन शेव वाले लड़के से बियर्ड(दाढ़ी) रखने वाले ज्यादा गंभीर होते हैं।


शॉर्ट क्रयू कट: फौज में इस तरह के हेयरकट का चलन है। इस स्टाइल में बाल शॉर्ट (छोटे) होते हैं। यह किसी भी
तरह के चेहरे पर सूट करता है। आज कल यह काफी चलन में है।
स्पाइक कट: आजकल युवाओं में स्पाइक्स वाले बालों का चलन बढ़ा है। इस हेयरस्टाइल में छोटे और कम बाल होता
है। सभी तरह के चेहरे पर यह स्टाइल अच्छा लगता है।
बज कट: यूथ इस कट के दीवाने हैं। जिनके बाल कम है और छोटे है उन लोगों के लिए यह स्टाइल काफी पसंद
आएगा। यह हेयर स्टाइल कैजुअल लुक और फॉर्मल लुक के लिए आजकल बहुत चलन में हैं।


12 अगस्त: अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस

विश्व के अधिकांश देशों में कोई न कोई दिन युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस पूरे विश्व में
हर साल 12 अगस्त को मनाया जाता है। पहली बार सन 2000 में इसका आयोजन शुरू हुआ था। अंतरराष्ट्रीय युवा
दिवस मनाने का मतलब है कि सरकार द्वारा युवा के मुद्दों और उनकी बातों पर ध्यान आकर्षित करने का है। संयुक्त
राष्ट्र संघ ने वर्ष 1985 को अंतरराष्ट्रीय युवा वर्ष घोषित किया। भारत में सबसे ज्यादा युवाओं की आबादी है। बहुत कम
लोग ही जानते होंगे कि 12 अगस्त का दिन उनके नाम है। युवाओं की ताकत ही किसी भी देश की तकदीर बदल
सकती है। जोश और जुनून से सराबोर रहने वाली युवा पीढ़ी ही किसी भी देश के भविष्य को बनाती या बिगाड़ती है।
युवा शक्ति का लोहा दुनिया भर में माना जाता है। पर युवा शक्ति को सकारात्मकता की ओर बड़ी मोड़ना चुनौती होती
है। विश्व भर में आज ज्यादातर युवा अपनी सुख सुविधाओं के लिए अपनी देश छोड़कर को दूसरे देश मेें जा रहे हैं।
सकारात्मक सोच के साथ युवा अपने देश की प्रगति के लिए कार्य करते हैं। बस उन्हें सही रास्ता और गार्गदर्शन की
जरूरत होती है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि किसी भी देश की उन्नति और प्रगति उनकी युवा ब्रिगेड की बदौलत होती
है। अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस पर हर देश में युवाओं की भूमिका और उनकी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए आगे
बढऩे की जरूरत है।